Mutual Fund में Invest करने के 8 फायदे और नुकसान (रिस्क)

म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने के फायदे नुकसान : अगर आप पहली बार पैसे इन्वेस्ट कर रहे है या आपको मार्किट का ज्यादा तजुर्बा नहीं है तो म्यूच्यूअल फंड्स में पैसे निवेश करना आपके लिए सही निर्णय हो सकता हैं। बिज़नस या इन्वेस्टमेंट छोटी हो आया बड़ी उसमे थोडा बहुत रिस्क तो होता ही हैं। और कोई भी व्यवसाय या निवेश से पहले उसकी पूरी जानकारी होना सबसे जरुरी होता हैं। उसके लिए हम एक लेख पहले लिख चुके हैं जिसमे Mutual Fund से जुडी हर छोटी मोटी जानकारिया विस्तार से बताई गयी हैं। आज की इस पोस्ट में हम बताएँगे म्यूचुअल फंड में निवेश करने के फायदे और कुछ जोखिम जिनके बारे में जानना जरुरी हैं।

Mutual Fund में Invest करने के फायदे और नुकसान (रिस्क)

Mutual Fund में पैसा लगाने के फायदे

1. निवेश में विविधता

म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट करने का एक बड़ा फायदा हैं यह पर आपको निवेश में विविधता मिलती हैं। जो आपके जोखिम की सम्भावना को काफी कम कर देता हैं। अगर सरल भाषा में समझाया जाए तो जैसे आप रोजाना किसी सब्जी वाले से सब्जी खरीदते हैं और किसी दिन वो नहीं आया तो आपको बिना सब्जी ही रहना पड़ेगा।

वही अगर आप 2 अलग अलग सब्जी वालो से सब्जी लेते हैं। ऐसे में अगर एक नहीं आया तो आप दुसरे से सब्जी ले सकते हैं। क्योंकि दोनों सब्जी वाले के एक ही दिन ना आने के चांस कम होते हैं। इसलिए निवेश में विविधता इतनी महत्वपूर्ण बन जाती हैं।

2. सरलता

शेयर मार्किट या दूसरे जगह पैसे निवेश करना कई बार काफी जटिल होता हैं वही म्यूच्यूअल फंड्स की अच्छी बात है इसकी सरलता। म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करते समय आपको उससे सभी जानकरिया बड़ी आसानी से मिल जाती हैं। इसमें रिसर्च और डाटा संग्रह फंड्स द्वारा ही मैनेज कर लिया जाता हैं। बस आपको fund performance की देख रेख करनी होती हैं। म्यूचुअल फंड में आप जोखिम, मुनाफे और कीमत के आधार पर फंड्स की तुलना करने का विकल्प भी प्रदान करता हैं।

3. पेशेवर विशेषज्ञों द्वारा देख रेख

इन्वेस्टमेंट चाहे शेयर बाज़ार में करे या फिर सोना चांदी या रियल स्टेट बिज़नस में करे, नियमित समय अंतराल पर उसकी देख रेख और स्टडी करते रहना जरुरी होता हैं। शुरुआत में मार्किट को थोडा समझने के बाद कुछ लोग सोचते हैं वो आराम से सब कर पाएंगे और अंत में ऐसे बहुत से लोग नुकसान खा बैठते हैं।

  • Mutual Funds में निवेश का सबसे बड़ा फायदा हैं यहा पर फंड्स संबधित स्टडी देख रेख और दुसरे काम विशेषज्ञों द्वारा किये जाते हैं। जिन्हें इनकी पूरी जानकरी और तजुर्बा होता हैं। वो ये सुनिश्चित करते है की आपका पैसा सही जगह लगा हैं और आप जायदा से जायदा पैसे कमा सके।

4. कम खर्चा

म्यूचुअल फंड में invest करने का चौथा बड़ा फायदा हैं इसमें खर्चा काफी कम होता हैं। दूसरी investment services आम तौर पर आपको निवेश का 2 से 3% सालाना तक चार्ज करती हैं और उसके साथ में मुनाफे में भी कुछ हिस्सा लेती हैं। Mutual Fund औरो के मुकाबले काफी कम खर्चीली हैं इसमें आपको 1 से 2% तक की कटौती होती हैं। कुछ फंड्स में तो इससे भी कम खर्चा आता हैं।

5. कम टैक्स

किसी भी जगह इन्वेस्ट करने से पहले एक बात जो मन में आती है वो है टैक्स, हमें उसमे टैक्स कितना भरना पड़ेगा। इस मामले में म्यूच्यूअल फण्ड सही हैं। इसमें पैसे निवेश करने पर आपको औरो के मुकाबले कम टैक्स देना पड़ता हैं। उदहारण के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंड पर Long-term capital gain tax जीरो होता हैं। जिसका मतलब हैं अगर आप अपनी इन्वेस्टमेंट एक साल के अंदर बेच देते हो तो आपको कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा।

6. सुरक्षित निवेश

यह पर इन्वेस्ट करना काफी पारदर्शी और सुरक्षित होता हैं। सुरक्षित इसलिए क्योंकि म्यूच्यूअल फंड्स SEBI की देख रेख में काम करती हैं। SEBI एक सरकारी संस्थान हैं जो बारीकी से इस पर नज़र रखे हुए हैं। स्टॉक्स की कीमत, उनका भूतकाल में प्रदर्शन और फण्ड मेनेजर की योग्यता और उनके पिछले काम सब कुछ खुले में होते हैं। इसके अलावा फंड्स की नेट वैल्यू रोजाना अपडेट होती हैं। जिन्सके बारे में पूरी जानकरी हम कभी भी पा सकते हैं।

 

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के नुकशान अथवा रिस्क

कम मुनाफा

इस मार्किट में पैसा लगाने में निवेश में विविधता का फायदा आप उपर पढ़ चुके हैं। पर उस निवेश में विविधता से जहा एक तरफ जोखिम कम होता हैं तो दूसरी और ये आपको ज्यादा मुनाफा कमाने से भी रोकता हैं। इसलिए जिन लोगो को कम समय में काफी मुनाफा कमाना है उनके लिया कुछ म्यूच्यूअल फंड्स में इन्वेस्टमेंट सही साबित नहीं होती। इसी वजह से हम आपको एक से ज्यादा म्यूचुअल फंड में निवेश करने की सलाह देंगे।

 

ज्यादा लागत

कुछ म्यूच्यूअल फंड्स को मैनेज करने की लागत काफी अधिक होती हैं। Mutual Funds आपके फंड्स को मैनेज करने के लिए चार्ज करती हैं जिसमे फण्ड मेनेजर की तनख्वाह और दूसरे खर्चे शामिल होते हैं। यह तक की जब आप किसी फंड्स से बाहर निकलते हैं तो उसके लिए भी आपको एक्ज़िट लोड के रूप में कुछ लागत देनी पड़ती हैं। इसलिए जब भी आप किसी म्यूच्यूअल फण्ड से बाहर निकले उससे पहले उसका एक्ज़िट लोड जान ले।

दोस्तों अब आप जान ही चुके है mutual funds में निवेश करने के कितने फायदे है और क्या-क्या रिस्क हो सकते हैं। अब समय है ये निर्णय लेने का की आपको म्यूच्यूअल फंड्स में इन्वेस्ट करना हैं या नहीं। अगर आप घर बैठे पैसा कमाने के लिए फंड्स में  करने जा रहे हैं तो हमारी तरफ से ढेरों शुभकामनाएँ।

Leave a Reply

error: Content is protected !!