SSD (Solid State Drive) क्या हैं? SSD और HDD में 5 अंतर

SSD क्या हैं? SSD और HDD में क्या फर्क हैं और SSD के फायदे और नुकसान आप आज के इस लेख में जानेंगे। अगर आप नया laptop या Computer खरीदने जा रहे हैं तो एक confusion जो आजकल रहता हैं वो हैं क्या हमें आजकल के latest storage drive जिसे SSD कहते हैं उसके साथ जाना चाहिए या फिर वही पुराने HDD के साथ। दोस्तों SSD की फुल फॉर्म हैं Solid State Drive. आजकल आप देखोगे की जो High End computer और laptop हैं जिनके price ज्यादा होते हैं उनमे आपको HDD की जगह SSD देखने को मिलती हैं। Low और medium budget कंप्यूटर में आपको HDD ज्यादा देखने को मिलती हैं। ऐसा होने के कुछ कारण हैं जिनके बारे में डिटेल में निचे आप जनोंगे।

HDD क्या हैं? What is HDD in Hindi

HDD क्या हैं What is HDD in Hindi

HDD की फुल फॉर्म हैं Hard Disk Drive. ये एक storage drive हैं जिसका उपयोग लम्बे समय से किया जाता रहा हैं। HDD का अविष्कार सन 1956 में IBM द्वारा किया गया था। HDD में moving parts होते हैं। Data Read और Write करने के लिए spinning platter होते हैं जो घूमते रहते हैं। जितनी तेज़ी से ये spinning platter घूमते हैं उतना ही जल्दी data read और write होता हैं। आजकल मिलने वाली ज्यादातर HDD 5400 rpm और 7200 rpm speed के साथ आती हैं।

HDD आपको काफी high storage options के साथ मिल जाती हैं। तो अगर आपको ज्यादा storage space चाहिए तो आप hdd के साथ जा सकते हैं। 2018 में लैपटॉप और कंप्यूटर में 500 gb HDD को minimum के रूप में दिया गया हैं। 1000 gb (1TB) की HDD आपको budget laptop में भी आसानी से मिल जाती हैं।

दिखने में HDD SSD के जैसे ही दिखाई देती हैं। Laptop में इस्तेमाल की जानी वाली HDD की मोटाई 2.5 इंच और computer में थोड़ी मोटी 3.5 इंच होती हैं।

SSD क्या हैं? What is SSD in Hindi

SSD क्या हैं What is SSD in Hindi

SSD भी एक storage drive हैं जो वो हर काम कर सकती हैं जो HDD करती हैं। SSD में latest technology का इस्तेमाल किया जाता हैं इसमें कोई moving parts नहीं होता। ये तभ भी काम करती हैं जब इसे कोई पॉवर ना मिले। SSD में Data Write और Read electronically होता हैं। SSD में NAND-based flash memory का इस्तेमाल किया जाता हैं। जो system के off होने के बाद भी data खोने नहीं देती। इसकी life भी काफी ज्यादा होती हैं। क्योंकि इसमें moving parts नहीं होते जिससे इनके ख़राब होने की समभावना कम होती हैं।

SSD Pen Drive और Memory Card के जैसे काम करती हैं। इसकी Speed HDD से कई गुना ज्यादा होती हैं। पर इसकी कीमत HDD से 3-4 गुना ज्यादा होती हैं। इसलिए आप देखोगे की जिन laptop में ssd होती हैं वो काफी महंगे होते हैं।

Size में SSD उसी आकार में मिल जाते हैं जिसमे HDD आती हैं। जिससे ये आसानी से लैपटॉप या कंप्यूटर में Hard Disk Drive की जगह इनस्टॉल हो जाती हैं।

SSD vs HDD में क्या अंतर हैं?

SSD और HDD दोनों की storage drive हैं जो आपके date को store करने के साथ system boot करने का काम करती हैं। काम दोनों का एक ही है पर इनमे कुछ अंतर भी हैं। तो चलिए शुरू करते हैं जानना SSD और HDD के फायदे और नुकसान।

1. Speed

SSD की सबसे बड़ी खासियत होती हैं इससे मिलने वाली स्पीड। HDD के मुकाबले में sdd काफी fast speed देता हैं। HDD में जहा आपका pc या laptop मिनटों में boot होता हैं वही ssd में ये काम सेकंडो में हो जाता हैं। Operating system को boot करने या फिर कोई file open करने में hdd को ज्यादा समय चाहिए होता हैं।

किसी भी file को कॉपी और write करने की speed HDD में 50 से 120 mb/s तक होती हैं। SSD में ये speed 200 mb/s से लेकर 550 mb/s तक हो सकती हैं।

2. Price

इन दोनों storage drive की कीमत की बात की जाए तो यहा बाज़ी HDD मार जाती हैं। इसकी कीमत ssd की तुलना में काफी कम होती हैं। जिससे कम कीमत वाले कंप्यूटर और लैपटॉप में HDDका ही इस्तेमाल होता हैं।

SSD और HDD में price difference काफी ज्यादा होता हैं। SSD लगभग 4-5 गुना महंगी होती हैं HDD के मुकाबले में। 1 TB HDD जहा 3 से 4 हजार तक आराम से मिल जाती हैं। और SSD में आपको 3-4 हजार के price में 120 gb storage का ही option मिल पायगा।

3. Storage Capacity

अगर आपको ज्यादा storage capacity की drive चाहिए तो आपके लिए HDD बेहतर विकल्प होगा। आजकल के कम कीमत के कंप्यूटर में भी 1 tb space के साथ hdd आती हैं जो 8 tb तक हो सकती हैं। क्योंकि SSD काफी महंगी हैं इसलिए कम storage capacity के साथ ही समझौता करना पड़ता हैं। ज्यादातर कंप्यूटर 120 gb से लेकर 500 gb तक ही ssd के साथ आते हैं।

4. Durability

SSD में कोई moving part नहीं होता जो इसे ज्यादा safe बनाता हैं। laptop के गिरने या किसी दबाव से HDD के ख़राब होने का खतरा ज्यादा रहता हैं। SSD में data Loss होने की संभावना काफी कम होती हैं। अगर Life की बात की जाए तो यहा भी ssd बेहतर हैं।

5. Power और Noise

ssd के मुकाबले में hdd ज्यादा बिजली खर्च करती हैं। Hdd लगभग 6-7 वाट पॉवर लेती हैं वही SSD 2-3 वाट तक ही बिजली खर्च करती हैं। इसलिए देखा गया हैं जिन device में ssd होती हैं वो Battery backup ज्यादा देती हैं।

जब भी कोई data copy या paste होता हैं तो hdd में spinning platter घूमता हैं जिससे आवाज़ होती हैं। जितने तेज़ ये घूमेगा उतनी ही आवाज़ पैदा होगी। SSD non-mechanical होती हैं इसलिए ऐसे कोई आवाज़ इनसे नहीं आती।

 

आपको SSD लेनी चाहिए या फिर HDD?

दोस्तों उपर की गयी SSD और HDD की तुलना से आपको पता चल ही क्या होगा इन के कुछ फायदे हैं तो इनमे कुछ कमिया भी हैं। अगर आपको laptop या computer buy करना हैं है और आप इन दोनों storage drive में confuse हैं तो आपको पहले ये समझना होगा की आपकी जरूरते क्या हैं उसी के हिसाब से आपको निर्णय लेना होगा। चलिए कुछ ऐसे पॉइंट जानते हैं जिनसे आप जान पाएंगे आपको hdd लेनी हैं या SSD.

SSD (Solid State Drive) उनके लिए सही हैं :

  • जिनके लिए speed सबसे ज्यादा महत्व रखती हैं फिर चाहे उन्हें उसके लिए ज्यादा पैसे भी खर्च करने पड़े।
  • SSD में ज्यादा storage space के ज्यादा विकल्प नहीं मिलते। इसलिए जो लोग कम space में भी काम चला सकते हैं वो ssd के लिए जा सकते हैं।
  • Data की ज्यादा safety के लिए ssd बेहतर विकल्प हैं।

HDD (Hard Disk Drive) उनके लिए सही हैं :

  • अगर आपका budget कम हैं तो आप HDD ले सकते हैं। HDD की कीमत ssd की तुलना में काफी कम होती हैं।
  • अगर आपको ज्यादा storage space चाहिए तो आपको HDD वाला laptop या computer लेना चाहिए। इसमें आपको कम पैसे में अधिक storage space मिल जायगा।
  • अगर आपके लिए speed उतना ज्यादा matter नहीं करती तो HDD ली जा सकती हैं।

दोस्तों ये पोस्ट SSD vs HDD in Hindi? अगर अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। अगर इस टॉपिक को लेकर किसी पाठक का कोई सवाल हैं तो वो कमेंट में लिखकर पूछ सकता हैं।

 

 

Leave a Reply

error: Content is protected !!