वेब होस्टिंग क्या हैं? What is Different Type of Web Hosting in Hindi

कोई भी Website या Blog बनाने के लिए 2 प्रमुख चीजो की आवश्यकता होती हैं पहला Domain और दूसरा Web Hosting. वेब होस्टिंग एक तरह का Online Space होता हैं जहा पर वेबसाइट की सभी फाइल स्टोर होती हैं। जब किसी Website URL को Google Chrome या किसी और वेब ब्राउज़र में डालकर सर्च करते हैं तो वो साईट जिस वेब होस्टिंग पर बनी होती हैं उसके Server, Internet पर आपकी साईट की सभी फाइल का Access देते हैं। आज हम डिटेल में जानेंगे वेब होस्टिंग क्या हैं (What is Web Hosting in Hindi) और ये कितने प्रकार की होती हैं।

अगर आप वेबसाइट बनाने का सोच रहे हैं पर कंफ्यूज हैं की कौन सी और कहा से Web Hosting ख़रीदे तो आपने बिलकुल सही पोस्ट खोली हैं। अपने लिए सही होस्टिंग का पता लगाना उतना आसान नहीं हैं। आपके लिए कौन सी वेब होस्टिंग सही रहेगी वो कई बातो पर निर्भर करता हैं। आपका बजट कितना हैं? आपके Blog पर Traffic कितना हैं? आपकी साईट WordPress, Blogger या किस Platform पर बनी हैं? ऐसे कुछ फेक्टर हैं जिनके आधार पर आप अपने लिए सही होस्ट का चुनाव कर सकते हैं।

वेब होस्टिंग क्या हैं What is Meaning of Web Hosting in Hindi?

वेब होस्टिंग क्या हैं? What is Web Hosting in Hindi

Web Hosting in Hindi

पहले जानते हैं वेब होस्टिंग होती क्या हैं? दोस्तों जब हम Web browser में की Website का Link डालकर उसे खोलते हैं तो हमारा Browser कई Files को Codes के साथ Download करता हैं जो हमें Website के रूप में दिखाई देती हैं।

जिस तरह से आपके Computer में कोई भी File तभी Open होगी जब वो उसकी मेमोरी में स्टोर होगी। ठीक इसी तरह किसी भी Website या Blog की Files भी किसी जगह Store रहती हैं वो आपके Computer के बजाय Server होता हैं।

Web Host यानी Server भी एक तरह का Computer ही होते हैं। Server भी Computer की तरह CPU, Memory जैसे parts से मिलकर बना होता हैं। पर Server, आपके कंप्यूटर की तुलना में काफी Powefull होते हैं। ये एक समय में कई लोगो को आपको वेबसाइट खोलने के आजादी देते हैं। अधिकतर Server Linux Operating System पर Based होते हैं। अगर आप चाहो तो होस्ट Windows Based भी ले सकते हैं पर वो काफी महंगे होते हैं।

इन Server के मालिक Website Hosting के लिए Rent पर देते हैं जिसके लिए वो मासिक और सालाना आधार पर पैसे लेते हैं। Server के साथ में Website Transfer, Server Management, Backup, Email जैसे सुविधाए भी दी जाती हैं। Host किराये पर देने की इस पूरी प्रक्रिया को Web Hosting कहते हैं। और जो होस्ट देते हैं उन्हें Hosting Provider कहते हैं।

Type of Web Hosting : आपके लिए कौन सी होस्टिंग सही हैं?

Type of Web Hosting in Hindi : वेब होस्टिंग टाइप

वेब होस्टिंग कोई एक Service नहीं होती बल्कि कई Services का समूह होता हैं। Price और Features के आधार पार आपके पास  कई तरह के होस्टिंग लेने के विकल्प होते हैं। आपको अपनी वेबसाइट के लिए कौन सी वेब होस्टिंग लेनी चाहिए? ये निर्णय लेनी के लिए आपको Hosting Provider Company और Host Cost से पहले ये जानना जरुरी हैं आपके जरुरत क्या हैं और उसके हिसाब से ही अपने लिए होस्ट का चुनाव करना होगा।

Technology, Features और Price के आधार पर Web Hosting मुख्यत 4 प्रकार की होती हैं। Shared, VPS, Dedicated और Cloud Web Hosting.

1. Shared Hosting: Best Web Hosting for New Blogger

जैसा की नाम से ही प्रतीत होता हैं Shared Web Hosting में एक Server पर कई Account होते हैं। शेयर्ड होस्ट में आपके वेबसाइट के साथ में और भी कई साईट Server पर होगी। एक Server पर कितने ब्लॉग हो सकते हैं निर्भर करेगा आपके Hosting Provider पर। एक Server पर 100 से लेकर हजारो वेबसाइट हो सकती हैं।

Shared Hosting के फायदे

सबसे बड़ा फायदा ये हैं की आपकी होस्टिंग का खर्चा कई और लोगो के साथ बट जाता हैं। क्योंकि होस्टिंग प्रोवाइडर एक सर्वर पर कई वेबसाइट को होस्ट करता हैं जिससे होस्ट मैनेज करने में आने वाले सभी खर्चे कई लोगो में बटते हैं।

इस वजह से Shared Web Host काफी सस्ता पड़ता हैं। आप 200-300 रूपए महीने पर एक अच्छी Shared Hosting अपने ब्लॉग के लिए Buy कर सकते हैं। इसलिए जिनके पास पैसे कम हैं उनके लिए ये होस्टिंग सही रहती हैं।

Website बनाने के लिए आपको कई Setup करते पड़ते हैं। शेयर्ड होस्ट में ये सब Setup करने काफी आसान होते हैं। अगर आपको इस तरह के होस्ट के बारे में जानकारी हैं तो आपका ज्यादा समय नहीं लगेगा। BlueHost, Hostgator, Godaddy, Digital Ocean कुछ Popular Shared Web Hosting Provider के नाम हैं।

Shared Hosting के नुकसान

एक Server पर कई साईट होस्ट होने की वजह से कुछ फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। Server भी एक Computer होता हैं जिसमे CPU, Ram और Memory होती हैं। जिस तरह से आपका Computer  तब Slow हो जाता हैं जब आप उस पर एक साथ कई Programs चलाए। वैसे ही Server के साथ भी होता हैं कई वेबसाइट के होने से इनपे भी कई बार लोड बढ़ जाता हैं जिससे Server Slow या Down हो सकता हैं।

क्या आपको Shared Hosting लेनी चाहिए?

अगर आपका Budget Tight हैं तो आपके लिए ये होस्टिंग अच्छी हैं। और वो लोग जिन्होंने हाल ही में नयी वेबसाइट बनायी है या बनाने के सोच रहे हैं उनके लिए भी ये होस्ट सही रहता हैं। जिन ब्लॉग पर traffic कम रहता हैं वो भी shared host लेने का सोच सकते हैं। निजी ब्लॉग, टेस्टिंग वेबसाइट और ऐसे साईट जिन्हें कभी कभार Server Down होने से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता उनके लिए भी shared hosting अच्छा option हैं।

 

2. VPS Hosting : Shared से बेहतर

VPS की Full Form होती हैं  Virtual Private Server. VPS Shared Hosting से बेहतर होता हैं। हालाँकि VPS भी Server को औरो के साथ शेयर करना होता हैं। पर इसमें हो resource आपको मिलेंगे उसे पास आप ही इस्तेमाल कर पाएंगे।

अगर सरल भाषा में समझा जाए तो VPS एक होटल के एक Room के जैसे होता हैं जो होता तो होटल में ही पर उस रूम के पूरे हिस्से पर आपका अधिकार होता हैं। Hotel यहा Server होता हैं और Room VPS होता हैं।

VPS Web Hosting के फायदे

VPS Hosting, Shared से काफी Stable और भरोसेमंद होता हैं। इस होस्टिंग में हर एक वेबसाइट के लिए एक लिमिट में संसाधन दिए जाते हैं कोई भी एक साईट उन संसाधनों से अधिक प्रयोग नहीं कर सकती हैं। अगर वो साईट वो लिमिट को पार करती हैं तो उसका उसका असर उसी साईट पर पड़ेगा। अन्य Websites पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा।

VPS होस्टिंग में एक 10 से 20 वेबसाइट तक ही होती हैं जिससे Server पर ज्यादा लोड नहीं पड़ता जिससे Performence अच्छी रहती हैं। Virtual machines से Server को कई हिस्सों में बांटा जाता हैं जिन्हें VPS कहते हैं। इससे एक फायदा ये हैं एक VPS का दूसरे पर नकारात्मक असर नहीं पड़ता।

इस Web Host में आपको पूरी आजादी मिलेगी, अपनी जरुरत के हिसाब से सेटिंग की जा सकती हैं जो Shared Hosting में मुमकिन नहीं होती। Hosting Provider आपको VPS के लिए अच्छी Support देता हैं और इसमें Security भी काफी अच्छी मिलती हैं।

VPS Web Hosting के नुकसान

Shares Hosting की तुलना में VPS Host की Cost थोड़ी ज्यादा होती हैं। जिन लोगो के पास पैसो की कमी है उनके लिए ये होस्टिंग लेना मुश्किल बन जाता हैं। अगर आपको Host Manage करने की जानकारी नहीं है तो आपको इस होस्टिंग में परेशानी हो सकती हैं। एक छोटी सी गलती आपके लिए बड़ी नुकसानदायक हो सकती हैं।

क्या आपको VPS Hosting लेनी चाहिए?

अगर आपको बजट की ज्यादा प्रॉब्लम नहीं हैं और आपके ब्लॉग पर traffic भी अच्छा हैं तो आपके लिए VPS Best web hosting हो सकती हैं। खासकर जो लोग Shared Host Use कर रहे हैं और एक स्टेप बेहतर होस्ट चाहते हैं उन्हें VPS पर Upgrade कर लेना चाहिए।

 

3. Dedicated Server Hosting

Dedicated Server Hosting में आपका एक server पर पूरा अधिकार होता हैं। उस Server पर बस आपकी ही Websites Run करेगी। ये वेब होस्टिंग काफी महंगी होती हैं। दूसरी होस्टिंग की तरह इसके भी कुछ फायदे और नुकसान दोनों होते हैं।

Dedicated Hosting के फायदे

डेडिकेटेड होस्टिंग का सबसे बड़ा फायदा है की इसमें आपको server को किसी और के साथ शेयर नहीं करना पड़ता। Server के सभी संशाधनो पर आपका ही अधिकार होता हैं जिससे आप जैसे चाहे उन्हें इस्तेमाल कर सकते हैं। इस होस्टिंग में Security Risk ना के बराबर होता हैं। इसमें परफॉरमेंस टॉप लेवल की मिलती हैं।

काफी होस्टिंग कंपनिया Dedicated Hosting में आपको अपने हिसाब से सेटअप करने की पूरी आजादी देती हैं। आप अपने अनुकूलता के अनुसार Operating System, Memory Type और अन्य हार्डवेयर चुन सकते हैं।

Dedicated Hosting लेने के नुकसान

एक Dedicated Server को Hosting के लिए Rent पर लेना काफी महंगा होता हैं। इसलिए ये होस्टिग उन्ही लोगो के लिए जिनकी कोई बजट लिमिट नहीं होती और साईट पर अच्छा ख़ासा ट्रैफिक हो।

ऐसा वेब होस्टिंग में आपको सब कुछ खुद ही Manage करना होता हैं इसलिए वही लोग Dedicated Hosting लेने के बारे में सोचे जिन्हें Server handle करने की पूरी Knowledge हो। कई बार आपको पूरी तरह unmanaged server मिल सकता हैं जिसमे खुद से OS Install करना पड़ता हैं और उसके साथ में Server और Website के लिए जरुरी सभी Tool भी install करने पड़ते हैं।

क्या Dedicated Hosting आपके लिए सही होगी?

ऐसे Website जिन पर Traffic काफी High हैं जिसे VPS या Cloud Hosting पर handle करने में मुश्किले आ रही हैं वो Dedicated Hosting के लिए जा सकते हैं। इसके साथ में आप होस्ट के लिए काफी पैस खर्च सकते हैं तभी आप इस होस्ट को लेने का सोच सकते हैं।

क्या किसी को कभी Dedicated Server की आवश्यकता पड़ती हैं? हालाँकि Cloud VPS Hosting की बढती लोकप्रियता की वजह से Dedicated Hosting को लेने वालो की संख्या लगातार गिर रही हैं। ये बात सच हैं ये होस्टिंग Vps के मुकाबले कही ज्यादा Traffic को Handle कर सकती हैं।

एक High Quality VPS, एक Low End Dedicated Server की तुलना में सस्ता तो पड़ता ही हैं बल्कि उससे कही अधिक Powerfull भी होता हैं। इसलिए बस इस बात से धोखा मत खाना की Dedicated Hosting पर आप अकेले की Site हैं तो वो बेहतर ही होगा।

 

4. Cloud Hosting : Web Hosting का भविष्य

Cloud Hosting भी VPS के जैसे virtual machine पर होता हैं बस इसमें फर्क ये होता हैं की आपको साईट physical server पर होने की बजाय एक कंप्यूटर नेटवर्क का हिस्सा बन जाती हैं। Cloud Hosting इतनी पोपुलर हो गयी हैं की कई कंपनी अपने VPS को भी Cloud या Cloud VPS के नाम से प्रमोट करती हैं।

Cloud Web Hosting के फायदे

इसका सबसे बड़ा फायदा हैं इसमें काफी संसाधनों का विस्तार किया जा सकता हैं। हालाँकि VPS में भी विस्तार संभव हैं पर एक हद तक। उदहारण के लिए अगर आपके VPS की Ram 8 GB हैं तो उसे कभी भी 16 GB का काम नहीं किया जा सकता। ऐसा Cloud Host के साथ नहीं हैं, क्योंकि इसे ये कई कंप्यूटर से मिलकर बनता हैं इसलिए जरुरत के अनुसार पॉवर को बढ़ाया जा सकता हैं।

इस होस्टिंग को लेने में एक फायदा ये हैं की इसमें आपको उतने ही संसाधनों का बिल देना पड़ता हैं जितने आप इस्तेमाल कर रहे हैं। ये Dedicated Server से काफी बेहतर हैं जहा आपको एक Fix Price Pay करना होता हैं फिर चाहे उसकी पूरी capacity का use ना कर पा रहे हो।

Cloud Web Hosting के नुकसान

क्लाउड होस्टिंग थोड़ी महंगी होती हैं और कई होस्टिंग कंपनी की Cloud hosting का बिल फिक्स नहीं होता। अगर कभी आपका Traffic High रहता हैं तो उसी हिसाब से होस्ट का बिल भी बढ़ सकता हैं। इस होस्टिंग में एक और नेगेटिव इसका Unmanaged होना होता हैं। जिसकी वजह से आपको ज्यादातर host manage खुद से करना पड़ता हैं।

Cloud Hosting किसे लेनी चाहिए?

अगर आपको Host Manage करना आता हैं और आप कम पैसो में अपने वेबसाइट या ब्लॉग के लिए बेहतरीन Performance चाहते हैं तो आपको Cloud Hosting लेनी चाहिए। इसे Web Hosting के future के रूप में देखा जा रहा हैं। इसकी पूरी संभावना है की भविष में ये होस्टिंग Shared और Dedicated hosting के जगह ले लेगी।

अपने लिए Web Hosting का चुनाव करना एक मुश्किल निर्णय हैं पर इससे पहले वेब होस्टिंग क्या हैं : What is Web Hosting in Hindi? ये जानना जरुरी हैं। हमें उम्मीद हैं इस लेख से आपको इस बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपका Shared, VPS, Cloud या Dedicated Hosting से संबधित कोई सवाल है तो वो आप निचे कमेंट्स में लिखे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!