पॉलिटेक्निक क्या हैं? Polytechnic कैसे करे पूरी जानकारी हिंदी में

काफी लोग ये लोग चाहते हैं कि बिना ज्यादा समय गवाए और कम पैसे में कोई ऐसा कोर्स किया जाए जिससे बाद जल्द नौकरी मिल जाए। ऐसे ही एक कोर्स का नाम हैं Polytechnic. पॉलिटेक्निक कोर्स में लगने वाली कम फीस और कम अवधि के कारण ये डिप्लोमा बहुत पोपुलर हो गया हैं।हमें यकीन हैं आपने भी पॉलिटेक्निक के बारे में जरुर सुना होगा। अगर आप या आपका कोई जानने वाले ने हाल ही में 10th या 12th क्लास पास की हैं तो आपके लिए पॉलिटेक्निक एक अच्छा विकल्प हो सकता हैं।

आज हम जानेंगे पॉलिटेक्निक क्या हैं (What is Polytechnic Course in Hindi)? पॉलिटेक्निक कैसे करे, इसकी पढाई में फीस कितने लगती हैं और इस कोर्स के बाद जॉब कैसे मिलती हैं।

पॉलिटेक्निक में विषय के अनुसार कई विकल्प देता हैं जिसमे से आप अपनी रूचि के अनुसार उस फील्ड में एडमिशन ले सकते हैं। ऐसे स्टूडेंट जिनका किसी वजह से सीधा एडमिशन Engineering College में ना हो सका हो वो भी Polytechnic डिप्लोमा करके एक अच्छी सैलरी वाली  जॉब पा सकते हैं।

पॉलिटेक्निक क्या हैं Polytechnic in Hindi

Polytechnic in Hindi

पॉलिटेक्निक क्या हैं : What is Polytechnic in Hindi

पॉलिटेक्निक ऐसे स्कूल या संस्थाए होती हैं जहा से आप टेक्निकल, औद्योगिक कला और साइंस फील्ड में कई तरह के कोर्स कर सकते हैं। इसमें हम आमतौर पर सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और पोस्ट डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। पॉलिटेक्निक कोर्स दसवी, 12 वीं कक्षा या ITI के बाद कर सकते हैं। इस डिप्लोमे की अवधि 2 या 3 साल की होती हैं जो आपके ली फील्ड के आधार पर हो सकती हैं।

भारत में अधिकतर पॉलिटेक्निक संस्थाए स्टेट गवर्मेंट के अधीन आती हैं जिस वजह से इसकी पढाई में खर्चा कम आता हैं। इसलिए जो लोग ज्यादा फीस नहीं दे सकते उनके लिए ये कोर्स अच्छा आप्शन हैं। इसमें ज्यादा कोर्स टेक्निकल फील्ड में होते हैं जिसके लिए नियमित रूप से क्लास में जाना होता हैं। यहा पर किताबी पढाई से ज्यादा प्रैक्टिकल स्किल पर ज्यादा जोर दिया जाता हैं।

Type of Polytechnic Course in Hindi

इंडिया में सरकारी और प्राइवेट दोनों पॉलिटेक्निक संस्थाए कई तरह के कोर्स करने के आजादी देती हैं। मुख्य रूप से पॉलिटेक्निक कोर्स को 2 भाग में बांटा जाता हैं। पहला होता हैं तकनीकी क्षेत्र में डिप्लोमा, जिसमे इंजीनियरिंग से संबंधित कोर्स होते हैं। दूसरा गैर-तकनीकी क्षेत्र में डिप्लोमा, जिसमे आर्ट , साइंस से जुड़े कोर्स आते हैं। निचे दोनों फील्ड से जुड़े कुछ पोपुलर पॉलिटेक्निक कोर्स दिए हैं।

  • Mechanical Engineering
  • Electrical Engineering
  • Petroleum Engineering
  • Instrumentation & Control
  • Plastics Engineering
  • Computer Science and Engineering
  • Biotechnology Engineering
  • Dairy Engineering
  • IT Engineering
  • Civil Engineering
  • Fashion Design
  • Diploma in Textile Engineering
  • Commercial Practice
  • Pharmacy
  • Interior Decoration & Design
  • Business Management
  • Hotel Management & Catering
  • Agricultural Engineering
  • Media & Communications
  • Air Craft Maintenance

पॉलिटेक्निक कोर्स करने के फायदे

1. इस कोर्स को करने का सबसे बड़ा फायदा होता हैं इसमें लगने वाला कम समय। जो लोग जल्दी नौकरी पाना चाहते हैं उनके लिए पॉलिटेक्निक करना एक अच्छा विकल्प हैं। अगर आप डिग्री कोर्स भी करना चाहते हैं तो पॉलिटेक्निक के बाद जॉब करते हुए कर सकते हैं। या फिर आप पॉलिटेक्निक के बाद सीधा डिग्री कोर्स में एडमिशन लेकर उसे पूरा कर सकते हैं।

2. जैसा की आप उपर पढ़ चुके हैं पॉलिटेक्निक में थ्रोरी के मुकाबले प्रक्टिकल पढाई पर ज्यादा जोर दिया जाता हैं। जिसकी वजह से पॉलिटेक्निक छात्रो की टेक्निकल जानकारी उन छात्रो से बेहतर होती हैं जिन्होंने 12th class पास की हैं।

3. पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने का एक और फायदा ये हैं की बाद में अगर आप डिग्री कोर्स करना चाहते हैं तो एडमिशन के समय विषय में बदलाव कर सकते हैं।

4. 12th के बाद BTech और BE जैसे दुसरे डिग्री कोर्स करने में काफी पैसे लगते हैं पर पॉलिटेक्निक कोर्स में वैसा नहीं हैं। डिग्री कोर्स के अपेक्षा पॉलिटेक्निक की फीस कम होती हैं।

Polytechnic करने के लिए जरुरी योग्यता और फीस

इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपकी 10th कक्षा पूरी होनी चाहिए। इसके साथ में इन कक्षाओ में आपके पास Match, Science और English subject जरुर होने चाहिए। अगर आप फार्मेसी, टूरिज्म या होटल मैनेजमेंट पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करना चाहते हैं तो उसके लिए 12th क्लास में पास होना जरुरी होता हैं।

Polytechnic की पढाई पूरी करने में कितना खर्चा आता हैं ये इस बात पर निर्भर करता हैं की आप ये कोर्स कहा से कर रहे हैं। भारत में ये डिप्लोमा सरकारी और प्राइवेट संस्थाओ से किया जा सकता हैं। सरकारी संस्थाओ से पॉलिटेक्निक करने की फीस प्राइवेट के मुकाबले कम होती हैं इसलिए पहले सरकारी में दाखिला लेने की ही कौशिश करनी चाहिए।

Polytechnic Course कैसे करे

  • पॉलिटेक्निक में एडमिशन के लिए आपकी दसवी या बारहवी पास होने जरुरी होती हैं। अगर आप अभी इन कक्षाओ में हैं तो Science, English और Math पर ख़ास ध्यान देना हैं। कौशिश करे इन विषयों में अच्छे मार्क्स के साथ पास हो।
  • स्कूल स्कूल की पढाई पूरी करने के बाद अब पॉलिटेक्निक में दाखिला लेने का नंबर आता हैं जिसके लिए आपको Polytechnic Entrance Exam को पास करना होता हैं जिसे CET कहते हैं।  हालाँकि राजस्थान और उड़ीसा जैसे कई राज्यों में 10th क्लास के मार्क्स के आधार पर भी एडमिशन मिल जाता हैं।
  • CET (Common Entrance Test) क्लियर करने के बाद आपको कॉलेज का चुनाव करना होता हैं। इस टेस्ट में आये नंबर के हिसाब से आपका रैंक निर्धारित होगा और उसी आधार पर आपके पास Polytechnic Admission के लिए कॉलेज विकल्प मिलेगे।
  • आपकी कौशिश होने चाहिए अच्छे Marks से इस टेस्ट को पास किया जाए ताकि अच्छे सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल सके। अगर आपका रैंक कम है तो आपको प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेना होगा जिससे फीस ज्यादा होती हैं।

 

पॉलिटेक्निक करने के बाद जॉब या पढाई?

किसी भी कोर्स में एडमिशन से पहले हर किसी के मन में उसके आगे की प्लानिंग रहती हैं। क्योंकि पॉलिटेक्निक की पढाई स्किल पर आधारित होती हैं और उसमे प्रैक्टिकल का महत्व ज्यादा रहता हैं, जिससे जल्दी नौकरी मिलना आसान बन जाता हैं।

पॉलिटेक्निक कोर्स पूरा करना के बाद आपके पास नौकरी और आगे स्टडी करने के दोनों विकल्प होते हैं। आप Private और Goverment Job दोनों के लिए अप्लाई कर सकते हैं। अगर आपने कोर्स अच्छे मार्क्स के साथ पास किया हैं तो जॉब मिलना आसान हो जाता हैं।

अगर आप चाहते हैं आपको और बेहतर जॉब मिले तो आप आगे स्टडी भी कर सकते हैं। पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद आप डिग्री की पढाई पूरी कर सकते हैं।

दोस्तों Hindi Use का ये लेख पॉलिटेक्निक कैसे करे : What is Polytechnic Course in Hindi? आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे ताकि वो भी इस जानकारी से लाभ उठा सके।

Leave a Reply

error: Content is protected !!