डीएलएड क्या है कैसे करे? D.EL.Ed Full Form, College Fees, Exam

हर किसी का अपने जीवन में कुछ बनने का सपना होता है। कुछ लोगो आईएस बनना चाहते है तो कुछ लोग डॉक्टर बनना चाहते है तो कुछ चाहते है वो पढ़ लिख कर वकील बन जाए। डॉक्टर, इंजीनियर की तरह शिक्षण को भी सम्मानित और आदरणीय पेशो में से एक माना जाना है। जो लोग शिक्षक बनना चाहते है उन्होंने DLED का नाम जरूर सुना होगा। डीएलएड 2 साल का ऐसा कोर्स होता है जिसे प्राथमिक स्कूलों में Teacher बनने के लिए किया जाता है। आगे आप जनोंगे D.EL.Ed क्या है? डीएलएड कैसे करे, योग्यता, अवधि, एग्जाम फीस, Full Form और जॉब सैलरी से जुडी पूरी जानकारी।

दोस्तों किसी भी फील्ड में एक अच्छी नौकरी पाने के लिए आपको मेहनत तो करनी पड़ती है। अगर आपकी दिलचस्पी टीचिंग में है और आपने मन बना लिया मेहनत करने का तो D.EL.Ed Course करना एक अच्छा विकल्प बन जाता है इस कोर्स की अच्छी बात है इसके लिए योग्यता और इसकी अवधि। डी.एल.एड कोर्स के लिए दाखिला लेने के लिए आपकी 12th की पढाई किसी भी विषय से होनी चाहिए और इस कोर्स की कुल अवधि केवल 2 साल की होती है। चलिए इस Teaching Course के बारे में आगे विस्तार से जानते है।

डीएलएड क्या है: DELEd Full Form & Meaning in Hindi

D.EL.Ed Full Form, Course Fees, Exam
D.EL.Ed Full Form

D.EL.D एक 2 साल का डिप्लोमा कोर्स है जिसमे प्राथमिक शिक्षक ट्रेनिंग दी जाती है। जिन छात्रो को इस कोर्स के लिए सिलेक्शन होता है उन्हें 6 से 15 साल के छात्रो या I से VIII Class के छात्रो को छात्रों को पढ़ाने के लिए शिक्षको को प्रशिक्षण और ज्ञान दिया जाता है। इस कोर्स की पढाई पूरी करने के बाद आप देश के किसी भी प्राइवेट या सरकारी प्राथमिक स्कूल में अध्यापक पद के लिए अप्लाई कर सकते है।

  • DELED Full Form: Diploma course in Elementary Education
  • डीएलएड की फुल फॉर्म: डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन

छात्र इस कोर्स को Regular या Distance दोनों से कर सकते है। इस कोर्स में कुल 4 सेमेस्टर होते है जिसमे छात्रो को इस तरह से ट्रेनिंग दी जाती है कि वो देश के किसी भी प्राथमिक / उच्च प्राथमिक विद्यालयों में बच्चो को शिक्षा दे सके।

दोस्तों हम सब जीवन में जो सीखते है उसमे शिक्षको का सबसे महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसलिए अगर आप एक टीचर बनना चाहते है तो आपको अपनी शिक्षा को गंभीरता से लेना होगा। और जब बात कम उम्र के छोटे बच्चो को पढ़ाने की आए तो जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। छोटे बच्चे स्कूल में अपने शिक्षको से जो सीखते है उसका असर उन पर जीवनभर रहता है।

डी.एल.एड करने के बाद छात्रो को CTET और TET की परीक्षा को क्लियर करना होगा उसके बाद ही आप प्राइमरी स्कूल में अध्यापक पद की जॉब के लिए अप्लाई कर सकते है।

DELEd Diploma Course Highlights

कोर्स का नामD.EL.Ed Diploma Course
योग्यता12th कक्षा पास (न्यूनतम 50% मार्क्स)
एंट्रेंस एग्जामUP BTC D.El.Ed, SCERT Haryana D.El.Ed, Bihar D.El.Ed Entrance Exam etc.
कोर्स फीस5 हजार से 50 हजार
जॉब सैलरी2 लाख से 5 लाख सालाना

डी एल एड के लिए योग्यता और कॉलेज फीस

किसी भी परीक्षा को देने की एक योग्यता निर्धारित की जाती है। DELD करने के लिए College Admission पाने के लिए योग्यता की बात की जाए तो उम्मीदवार की 12th की पढाई पूरी होनी चाहिए। 12वीं साइंस, आर्ट या कॉमर्स किसी भी स्ट्रीम से की जाती है। इसके साथ में उम्मीदवार के 12वीं कक्षा में Minimum Marks 50% होने अनिवार्य है। SC/ST और विकलांग वर्ग छात्रो को अंको में 5% की छूट मिल जाती है।

डी.एल.एड कोर्स की फीस कितनी होगी, ये निर्भर करता है आपके एरिया और कॉलेज/यूनिवर्सिटी पर। DELD College Fees 5 हजार से 2 लाख सालाना के बीच में हो सकती है। उदहारण के लिए वर्तमान में जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में ये फीस 7000 रूपए सालाना के लगभग है वही Amity University, Noida में Course Fees 60000 सालाना है।

D.El.Ed Syllabus in Hindi

Teacher बनने के लिए किये जाने वाले डी एल एड कोर्स की कुल अवधि 2 साल की होती है। इस डिप्लोमा कोर्स का सिलेबस आप नीचे देख सकते है।

पहले साल का सिलेबस
Childhood & the development of children
Work & education
Mathematics
English
Education Society
Contemporary Society
Self Understanding
दूसरे साल का सिलेबस
Fine Arts & Education
Leadership & Change
School Culture & Teacher Identity
Cognition, Sociocultural Context
Pedagogy of Environmental Studies
School Health & Education
Internship

DELD कैसे करे? College Admission Process

भारत में डी एल एड कोर्स में दाखिला लेने की प्रक्रिया विभिन्न राज्यों के लिए अलग हो सकती है। देश के सभी सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपको Entrance Exam देना ही होगा। वही कुछ Private Colleges में बिना किसी प्रवेश परीक्षा दिए आपके 12th के Marks के आधार पर ही सीधा एडमिशन मिल जाता है।

असम, बिहार, उड़ीसा और छत्तीसगढ़ जैसी स्टेट में D.EL.D Admission लेने के लिए Entrance Exam देना अनिवार्य होता है। उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल जैसे कुछ राज्यों में डीएलएड के लिए कोई एंट्रेंस एग्जाम नहीं होता।

अगर आप DELD करना चाहते है तो सबसे पहले तो आपकी 12वी पूरी होनी चाहिए। आपको कौशिश करनी चाहिए की 12th में आपके ज्यादा से ज्यादा नंबर आए।

इसके बाद आपको इस कोर्स के लिए लिए जाने वाले एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई करना होगा। इस परीक्षा में आये मार्क्स ये निर्धारित करेंगे की आपको कितने अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिलेगा। अगर आपके नंबर अच्छे आते है तो आपको सरकारी कॉलेज में एडमिशन मिल सकता है जिसमे फीस काफी कम होती है।

Entrance Exam में आपको Objective Type Questions मिलेंगे जो आपके 12वी तक की पढाई के विषयों पर आधारित होंगे। इस परीक्षा में पूछे जाने वाले सवाल 3 खंडों में दिए जाएंगे। प्रत्येक खंड के अलग कट ऑफ लिस्ट जारी की जाएगी। जिन उम्मीदवारों का नाम इस मेरिट लिस्ट में होना उनका चुनाव विभिन्न कॉलेज में दाखिले के लिए हो जाएगा।

Top D.EL.Ed Colleges in India

अगर आपने निर्णय ले लिया है की आपको एक टीचर बनना है जिसके लिए आप डी.एल.एड कोर्स करना चाहते है तो आपके पास कॉलेज को लेकर बहुत से विकल्प है। भारत में कई अच्छे प्राइवेट और सरकारी कॉलेज है जहा से आप D.el.ed Course कर सकते है। हमने इंडिया के टॉप डी एल एड कोर्स कॉलेज की लिस्ट बनाई, जिसे आप नीचे देख सकते है।

  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा
  • मौलाना आज़ाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी, हैदराबाद
  • मेवाड़ विश्वविद्यालय, चित्तौड़गढ़
  • डॉ डी वाई पाटिल विद्या प्रतिष्ठान सोसाइटी, पुणे
  • जयपुर राष्ट्रीय विश्वविद्यालय
  • जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • दयालबाग एजुकेशनल इंस्टीट्यूट, आगरा
  • ग्रीन वैली कॉलेज ऑफ एजुकेशन, भोपाल
  • एसजीटी विश्वविद्यालय गुड़गांव

दोस्तों हम आशा करते है हमारे इस लेख डी.एल.एड कैसे करे: D.EL.Ed Full Form, Course, College Fees? से आपको इस कोर्स से जुडी सभी जानकारी मिल गयी होंगी। इसके अलावा भी अगर आपके कोई सवाल है तो आप कमेंट्स में लिखकर हमसे पूछ सकते है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!