SC, ST, OBC Full Form – SC, ST और OBC में कौन सी जातियां आती है

भारत एक बहुत बड़ा देश है जिसमे विभिन्न जातियों और वर्गों के लोग रहते है। इन जातियों को सरकार ने अलग-अलग केटेगरी में रखा हुआ है SC, ST और OBC उन्ही वर्गों के नाम है। हम सबने इनके बारे में सुना है पर इनसे जुड़ीं कई जानकारी से बहुत से लोग अनजान है। जैसे की OBC, ST और SC का पूरा नाम यानी Full Form क्या है। इन श्रेणियों को क्यों बनाया गया और कौन सी जाति किस श्रेणी में आती है, इत्यादि। चलिए एससी, एसटी और ओबीसी फुल फॉर्म और इनसे जुडी अन्य जानकारी के बारे में बात करते है।

जब भी हम कोई सरकारी फॉर्म भरते है या फिर कोई और डॉक्यूमेंट भरते है तो उसमे एक विभाग जाति का भी होता है जिसमे हम अपनी जाति न बताकर ST, SC या OBC में से कोई एक भरते है। जिसके आधार पर सरकारी नौकरियों और अन्य सुविधाओं में केटेगरी के आधार पार छुट भी मिल जाती है। जातियों के अलावा अल्पसंख्यक धर्म को भी इन श्रेणियों में रखा गया है। जैसे मुस्लिम धर्म के सभी लोग OBC में आते है।

SC, ST, OBC क्या है: Full Form & Meaning

SC ST OBC Full Form in Hindi
SC ST OBC Full Form

ST, SC, OBC और जातियों की श्रेणिया है जिनमे अलग अलग जातिया आती है। इन श्रेणियों में ऐसी जातियों को रखा गया है जो आर्थिक और सामाजिक रूप से पिछड़ी हुई है। भारतीय सविधान के अनुसार देश में रिजर्वेशन देने के आधार केवल आर्थिक हालात नहीं है। भारतीय सरकार द्वारा इन जाति श्रेणियों को बनाने के पीछे उद्देश्य ऐसी सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़ी जातियों की पहचान करना और उनको सरकारी नौकरियों, योजनाओं और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण देना था।

भारत में जातियों की 4 केटेगरी में बांटा गया है। General, SC, ST और OBC. आजादी के बाद देश में रिजर्वेशन केवल ST और SC को ही दिया गया था। 1987 में मंडल आयोग की रिपोर्ट के लागू होने के बाद OBC को भी आरक्षण देना शुरू किया गया। एससी, एसटी और ओबीसी की फुल फॉर्म क्या है? और इनसे जुडी अन्य जानकारी आप नीचे देख सकते है।

SC (Scheduled Castes)

SC की Full Form है Scheduled Castes. हिंदी में एससी का पूरा नाम और फुल फॉर्म अनुसूचित जाति है। इस श्रेणी में ऐसी जातियों को रखा गया है जो आर्थिक रूप से पिछड़े होने के साथ में, सामजिक रूप से भी पिछड़ी हुई है। आजादी के बाद से इन जातियों को निचले स्तर की जाति समझा जाता रहा है। इनके साथ भेदभाव होता रहा है जिस वजह से से इन्हें आगे बढ़ने के सामान अवसर नहीं मिल पाए है।

Scheduled Castes में उन जातियों को शामिल किया गया है जो कपडे धोना, मैला ढोना, मछली पकड़ना और नाली साफ़ करना जैसे कार्य करते है। इन जातियों के लोगो को ऊँची जातियों के लोगो को छूने तक की आजादी नहीं थी। लम्बे समय तक इन जातियों को काफी यातनाओं से गुजरना पड़ा है। हालाँकि अब हालात वैसे नहीं है।

अनुसूचित जातियों को दलित वर्ग से भी जाना जाता है। बहुत से लोग इन जातियों को अपमानजनक नजर से भी देखते थे। जिसके चलते बापू महात्मा गांधी ने इस वर्ग में आने वाले जातियों को वाल्मीकि और हरिजन जैसे ख़ास नाम भी दिए थे।

भारत में SC में आने वाले लोगो को स्थिति सुधरने के लिए कई प्रयास किये गए है जिनमे आरक्षण मुख्य है। सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में 15% सीट SC Category के लिए अरक्षित कर दी गयी है

ST (Scheduled Tribes)

ST की Full Form है Scheduled Tribes. एसटी का पूरा नाम और फुल फॉर्म हिंदी में है अनुसूचित जनजाति। दूसरी जाती श्रेणी जिसे भारत सर्कार दवारा आरक्षण दिया जाता है वो है ST. इनसे जुड़े अधिकतकर समाज को आदिवासी और मूल निवासी कहाँ जाता है। इसके आलवा इस श्रेणी में आने वाली कुछ जातियां खानाबदोश जनजातियाँ होती होती है। इन जातियों के लोगो का सामाजिक रूप से बहिष्कार किया गया था जिस वजह से ये आज भी जंगलो में रहते है। Scheduled Tribes समाज के लोगो की सस्थिति SC से भी दयनीय है।

इन Casts के लोग जंगलो में रहते है इसलिए उनका बाहरी दुनिया से उतना सम्पर्क नहीं होता जिस वजह से Scheduled Tribes बहुत सी सरकारी सुविधाओं से भी वंचित रह जाते है। हालाँकि पूर्वोत्तर के कई शेत्रो में अनुसूचित जनजातियों की स्थिति थोड़ी बेहतर है।

भारतीय सरकार ने अनुसूचित जनजातियों को समानता के अधिकार दिलाने और इनकी स्थिति सुधारने के लिए कई प्रयास किये है। जिनसे से एक इन्हें सभी सरकारी जॉब, शिक्षण संस्थानों में 7.5% आरक्षण देना है। इसके अलावा सरकार इनके लिए कई सरकारी योजना भी लाती रहती है जिससे उन्हें आर्थिक मदद भी मिलती है।

OBC (Other Backward Classes)

OBC की Full Form है Other Backward Classes. हिंदी में इन्हें अन्य पिछड़ा वर्ग भी कहाँ जाता है। ST और SC के अलावा तीसरा वर्ग जिसे रिजर्वेशन मिलता है वो है OBC. भारतीय सविधान में इन्हें पिछड़ा वर्ग के नाम से दर्शाया गया है। उच्च और निचले वर्ग के बीच में आने वाली कई जातिया ओबीसी में आती है। इस श्रेणी में आने वाले जातियों को आर्थिक रूप से पिछड़ा माना जाता है।

भारत में शुरुआत से ये वर्ग आरक्षण में नहीं आता था। मोरारजी देसाई की अगुवाई में मंडल आयोग ने भारत की सभी जातियों पर अध्ययन किया, जिसमे कई ऐसी जातियां मिली जो जनरल केटेगरी की तुलना में पिछड़ी हुई थी। जिसके बाद मंडल आयोग की रिसर्च और सिफारिश के आधार पर एक नया वर्ग बनाया गया जिसे ओबीसी के नाम से जाना जाता है।

कई पिछड़ी जातियों के अलावा मुस्लिम धर्म जैसे अल्पसंख्यक वर्ग भी ओबीसी में आते है। Other Backward Classes में आने वाली सभी जातियों और धर्म के लोगो को भी सभी सरकारी संस्थानों और नौकरियों में 27% आरक्षण मिलता है।

SC, ST और OBC में कौन सी जातियां आती है?

एससी, एसटी और ओबीसी को लेकर बहुत से लोगो का ये सवाल रहता है इनमे कौन कौन सी जाती है? हमारी जाति SC, ST या OBC में आती है? किस श्रेणी में कौन सी जातियां आएंगी ये राज्यों के आधार पर निर्धारित की गई है। कोई जाति किसी राज्य में जिस श्रेणी में आती है, हो सकता है वो दूसरे राज्य में दूसरी श्रेणी में आती है। ST, SC और OBC में कितनी और कौन सी जाति आती है ये आप नीचे दिए गए लिंकों पर जानकर राज्यों के अनुसार देख सकते है।

  • OBC में आने वाली जातियां: Center List of OBC
  • SC ST में आने वाली जातियां: Census India

ये भी पढ़े:

दोस्तों तो आज आपने जाना ओबीसी, एससी और एसटी क्या है: SC, ST, OBC Full Form in Hindi? अगर आपको ये जानकारी आपको फायदेमंद लगे हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे।

Share This Post:

Leave a Comment