होम लोन कैसे ले : Home Loan लेने की A-Z पूरी जानकारी

गरीब हो या आमिर हर किसी का एक सपना होता हैं की उसका अपना खुद का घर हो। पर घर बनाना आजकल के समय में इतना आसान नहीं हैं। एक नार्मल जॉब करने वाले को पूरी ज़िन्दगी लग जाती हैं घर बनाने के लिए पैसा जुटाने में। जमीन, घर या फ्लैट खरीदने के लिए बैंक से लोन भी लिया जा सकता हैं। जिससे हम शुरुआत में कुछ डाउन पेमेंट करके हर महीने EMI (किश्तों) में धीरे धीरे उस लोन का भुगतान कर सकते हैं। आज हम इसी टॉपिक पर बात करेंगे। होम लोन कैसे ले, ब्याज दर, जरुरी डाक्यूमेंट्स और अन्य सभी जानकारी।

आम तौर पर लोन पहले से बने हुए फ्लैट या घर के लिए लिया जाता हैं या फिर वर्तमान में बन रहे घर के लिए भी लोन लिया जा सकता हैं। कुछ लोन ऐसे भी हैं जिन्होंने अपना मकान बनाने के लिए जमीन या प्लाट पहले से खरीद रखा हैं और वो उस पर मकान बनाने के लिए Home Loan लेते हैं। ऐसे लोन को construction loans कहते हैं। ऐसे लोन लेने के प्रक्रिया नार्मल होम लोन से थोड़ी अलग होती हैं।

होम लोन कैसे ले : Home Loan in Hindi

होम लोन कैसे ले : How to Apply for Home Loan in Hindi

रोजाना हजारो लोग Home Loan के लिए Apply करते हैं जिसमे से कुछ की Application approve हो जाती हैं तो कुछ की reject भी होती हैं। लोन पास होने से पहले एक पूरी प्रक्रिया होती हैं जिसका अहम हिस्सा होता हैं जिसमे बैंक ये देखता हैं की आप उस Loan Amount को समय पर अदा कर पाओगे की नहीं।

आपके जमा किये डाक्यूमेंट्स और अन्य जानकारी के आधार पर बैंक को जब ये सुनिश्चित हो जाता हैं की आप लोन का भुगतान कर सकते हैं उसके बाद ही आपको लोन मिल पाता हैं। चलिए आगे जाने हैं होम लोन मिलने की पूरी जानकारी।

होम लोन के लिए अप्लाई करे

लोन लेने की प्रक्रिया में सबसे पहला काम बैंक जाकर होम लोन की नियम शर्ते, ब्याज दर, जरुरी कागजात और पूरी प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जाने। ये सब जानकरी आप बैंक के ऑफिसियल वेबसाइट से ऑनलाइन भी पता कर सकते हैं। इसके बाद आपको Home Loan Application Fill करनी होती हैं। ज्यादातर बैंक आपसे निचे दिए डाक्यूमेंट्स और जानकारी मांगेगा।

  • Identity Proof (आधार कार्ड / पहचान पत्र)
  • Address Proof (आपका पता)
  • आपके आयु
  • आप कितना पड़ा लिखे हैं और काम क्या करते हैं
  • बैंक स्टेटमेंट
  • Income Proof
  • Pan Card
  • प्रॉपर्टी डिटेल

जाने : Education Loan लेने के लिए क्या करे

Verification, Property Valuation और Repayment Capcity

जरुरी डाक्यूमेंट्स के साथ एप्लीकेशन बैंक में जमा कराने के बाद बैंक आगे की प्रक्रिया शुरू करता हैं। जिसमे आपके जमा किये गए सभी डाक्यूमेंट्स और अन्य जानकरी को वेरीफाई किया जाता हैं। वेरिफिकेशन के लिए बैंक से आपके पास आते हैं और आपसे कुछ सवाल पूछे जायेंगे। इसके अलावा आपने जो जानकारी बैंक को अपने बारे में दी हैं उसकी जांच की जाती हैं।

आपके नाम जो प्रॉपर्टी हैं उसकी आज के समय में कितने वैल्यू हैं। आप क्या काम करते हैं, आपके आय कितने हैं। आपने पहले कभी लोन किया है या नहीं। अगर लोन किया हैं तो आप समय पर उसका भुगतान कर रहे हैं या नहीं। इन सबको ध्यान में रखते हुए ही आगे की प्रक्रिया चलती हैं।

आपके पुराने क्रेडिट रिकॉर्ड को चेक करने के लिए बैंक आपके सिबिल स्कोर हो भी देखता हैं। आम तौर Home Loan application approve होने के लिए  750 से जायदा CIBIL Score को काफी अच्छा माना जाता हैं लेकिन इतना स्कोर होना भी लोन पास होने की गारंटी नहीं होता।

होम लोन पास होने की प्रक्रिया का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता हैं जो लोन ले रहा हैं उसकी Repayment Capacity का पता करना। सरल भाषा में बोला जाए की ये जानना की वो उस लोन की किश्तों का समय पर भुगतान कर पायगा या नहीं। ये जानने के लिए बैंक लोन लेने वाले का क्रेडिट स्कोर, तनख्वाह, प्रॉपर्टी और कुछ अन्य जानकारी की जांच करता हैं।

आपको होम लोन मिलेगा या नहीं? होम लोन कितने का मिलेगा और उस पर  interest rate कितना लगेगा? ये सब निर्भर करता हैं की बैंक आपके समय पर भुगतान की योग्यता से कितना संतुष्ट हैं।

होम लोन स्वीकृति : Home Loan Sanction

बैंक द्वारा की जानी वाली वेरिफिकेशन पूरी होने के बाद अगर बैंक लोन की स्वीकृति देने की प्रक्रिया शुरू कर देता हैं। जिसमे बैंक से कर्जदार को  होम लोन एग्रीमेंट मिलता हैं जिसमे निम्नलिखित जानकरी होती हैं।

  • लोन कितने पैसे का पास हुआ हैं
  • ब्याज दर कितने लगेगी
  • ब्याज दर फिक्स्ड होगी या फ्लोटिंग
  • ऋण कार्यकाल
  • भुगतान का तरीका
  • लोन की नियम और शर्ते

सभी नियम शर्ते और अन्य जानकारी पढ़ने के बाद आपको होम लोन एग्रीमेंट पर अपने हस्ताक्षर करने होते हैं। उसके बाद बैंक दवारा मांगे जाने वाले सभी डाक्यूमेंट्स के साथ उसे बैंक में जमा कराना होता हैं।

आपका बैंक आपसे Loan Processing Fees की मांग कर सकता हैं। ये फीस आम तौर पर Loan Amount का 0.5% से 1% तक की होती है। हाल ही में कुछ बेंको ने कर्जदारों को लुभाने के लिए इस फीस को लेना बंद कर दिया हैं।

ऋण वितरण : Home Loan Disbursement

लोन एग्रीमेंट जमा कराने के बाद होम लोन की अंतिम चरण आता हैं जिसमे कहते हैं  Loan Disbursal यानी ऋण वितरण। इससे पहले प्रॉपर्टी बेचने और खरीदने वाले को प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन डेट फाइनल करती होती हैं। इसके साथ में कर्जदार को बैंक में एक written request जमा करानी होती हैं जिसमे प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन की तारीख भी लिखित होती हैं। इसके बाद बैंक प्रॉपर्टी लेने के लिए लोन चेक के जरिए कर्जदार के नाम जारी कर देता हैं।

नोट : जब तक होम लोन का पूरा भुगतान नहीं होता तब तक आपके प्रॉपर्टी के Original Paper बैंक के पास रहेंगे। लोन का पूरा भुगतान होने के बाद वो सभी डाक्यूमेंट्स आपको मिल जायेंगे।

दोस्तों हमें उम्मीद हैं हमारे इस लेख होम लोन कैसे मिलता हैं : Home Loan Process in Hindi? से आपको लोन लेने में आसानी जरुरी होगी। लोन से जुड़े अपने सवाल कमेंट्स में पूछे जा सकते हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!