JEE Mains और Advance क्या होता है जेईई 2022 एग्जाम की पूरी जानकारी

इंडिया में जो छात्र इंगिनीरिंग बनने का सपना रखते है उन्होंने JEE Mains और JEE Advance के बारे में जरुर सुना होगा। दोस्तों जेईई एक एंट्रेंस एग्जाम होता है जिसे क्लियर करने के बाद आप देश के टॉप कॉलेज में B.Tech और BE जैसे Engineering Degree Course में Admission पा सकते है। जेईई मेन्स और एडवांस दोनों प्रवेश परीक्षा इंजीनियर कॉलेज में दाखिला लेने के लिए आयोजित होती है। नीचे हम इन परीक्षाओं में मुख्य अंतर, फुल फॉर्म, योग्यता, एग्जाम और कॉलेज एडमिशन की पूरी जानकारी आपको देंगे।

भारत में हर साल लाखो छात्र जेईई मेन्स की परीक्षा देते है जो साल में 2 बार आयोजित कराई जाती है। इस परीक्षा को क्लियर करने के बाद देश के Top Private और Government Colleges में एडमिशन मिल पाता है। जिन छात्रों के पास 12th में Physics, Match और Chemistry Subject थे वही JEE Mains Exam के लिए क्वालीफाई कर पाता है। इस प्रवेश परीक्षा को भारत में होने वाली कठिन परीक्षाओं में गिना जाता है। पर वो कहते है न जितना परिश्रम किसी मुकाम को पाने के लिए किया जाता है, उतना ही उसका फल मीठा होता है।

आप JEE Exam को School में 12th करते हुए भी दे सकते है। बहुत से नॉन मेडिकल के छात्र अपनी स्कूल की पढाई के दौरान ही इस परीक्षा की तैयारी में लग जाते है जिससे उन्हें इस एग्जाम को क्लियर करने में काफी मदद मिल जाती है। चलिए आगे JEE Mains और Advance Exam के बारे में विस्तार से जानते है।

JEE Main क्या है: जेईई फुल फॉर्म, योग्यता और तैयारी

JEE Mains Advance Full Form Exam Date Marks
JEE Main & Advance

JEE की Full Form है Joint Entrance Examination. अगर आप एक अच्छे College से B.tech (Bachelor of technology) या BE (Bachelor of engineering) डिग्री कोर्स करना चाहते है तो आपको JEE Mains Exam के बारे में जानना बहुत जरुरी है। National Testing Agency (NTA) द्वारा जेईई मेन की परीक्षा को करवाया जाता है जिसका उद्देश्य Engineering Degree में Admission के लिए काबिल छात्रो का चयन करना होता है।

NTA JEE Exam के बाद B.tech, B. Arch जैसे कोर्स के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जाता है जिनका एडमिशन IIIT (Indian Institutes of Information Technology), NIT (National Institutes of Technology) और सरकारी तकनीकी संस्थानों में दिया जाता है। हालाँकि किसी भी IIT Engineering College में Admission के लिए JEE Mains के साथ में JEE Advance को भी क्लियर जरुरी होता है।

सन 2017 तक जेईई मेन एग्जाम एक साल में एक बार ही होता था और इस परीक्षा का आयोजन CBSE (Central Board of Secondary Education) द्वारा करवाया जाता था। सन 2018 से JEE-Main एग्जाम का आयोजन National Testing Agency द्वारा किया जाने लगा है।

एक साल में कितने बार JEE Mains Exam होता है?

हम एक साल में कितने बार जेईई मेन की परीक्षा दे सकते है? इस सवाल को लेकर छात्रो में काफी असंजस रहता है, जिस वजह से ये सवाल काफी पूछा भी जाता है। JEE Mains 2021 से पहले साल में 2 बार ये एंट्रेंस एग्जाम होता था जिसके आधार पर छात्रो का चयन किया जाता था। दिसम्बर 2020 में भारत के शिक्षा मंत्री ने कहाँ की इस बार यानि JEE Mains 2021 एक साल में 4 बार होंगे। इसके पीछे सरकार का उद्देश्य छात्रो को ज्यादा चांस देना था।

दोस्तों इस साल यानी JEE Mains 2022 की बात की जाए तो इस बार फिर से पुराने नियम के अनुसार NTA द्वारा 2 बार ही JEE Exam आयोजित करवाए जाएँगे। छात्रो को JEE Main के लिए टोटल 3 Total Number Of Attempts मिलते है, जिसके अनुसार ही छात्रो को तैयारी करनी होगी।

Joint Entrance Examination के लिए योग्यता

किसी भी प्रवेश परीक्षा के लिए जरुरी मापदंड और योग्यता निर्धारित की जाती है। अगर आप Engineer बनने के लिए एक प्रतिष्ठित संसथान में एडमिशन चाहते है तो आपको JEE Entrance Exam देना होता है। आपको इस एग्जाम के लिए जरुरी योग्यता के बारे में पूरी जानकार होनी जरुरी है।

दोस्तों JEE Main का एग्जाम देने के लिए उम्मीदवार की 12वी किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से Match, Physics, Chemistry Subject के साथ पास होनी जरुरी होती है। जेईई मेन देने के लिए 12th में अंक प्रतिशत महत्व नहीं रखती है। अगर आप IIT और NIT जैसी Engineering Institute में Admission लेना चाहते है तो आपको उसके लिए JEE Advance की परीक्षा देनी होगी जिसके लिए आपके 12th में कम से कम 75% अंक होने जरुरी होते है।

जेईई के लिए उम्र मापदंड (Age)

  • जो छात्र 1 अक्टूबर, 1997 को या उसके बाद जन्म लिए है वो JEE Main 2022 Exam दे सकते है।
  • उम्मीदवार की उम्र का सत्यापन उसकी उच्च माध्यमिक शिक्षा (10वीं) की मार्कशीट के आधार पर किया जाएगा।
  • एससी/एसटी और पीडब्ल्यूडी वर्ग के छात्रों के लिए उम्र में 5 साल की छुट मिलती है।

JEE Main 2022 Exam Pattern & Subject

JEE Main की परीक्षा में टोटल 2 पेपर होते है। Paper 1, Btech और BA कोर्स के लिए होता है और Paper 2 B.Arch और B Planning कोर्स के लिए लिया जाता है। Jee Paper 1 पूरी तरह से कंप्यूटर आधारित परीक्षा होती है जिससे ऑनलाइन माध्यम से आयोजित करवाया जाता है। सन 2018 से पहले छात्रो को Paper 1 परीक्षा देने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम का विकल्प मिलता था।

जेईई मेन एग्जाम के लिए उम्मीदवारों को अधिकतम 3 चांस ही मिलते है जो लगातर 3 साल तक ही सिमित। जेईई मेन में मेरिट लिस्ट के अनुसार टॉप रैंक पाने अपने वाली छात्र JEE Advanced Exam देने के योग्य बन जाते है। JEE Advanced Clear करने के बाद छात्र पोपुलर संस्थान Indian Institutes of Technology (IITs) में एडमिशन पा सकते है। नीचे जेईई मेन्स के सभी पपेर के सब्जेक्ट देख सकते है।

  • Paper 1 (B.E, B.Tech) – Chemistry, Physics, Mathematics – Total 300 Marks, 100 Mark Each Subject
  • Paper 2 (B.Arch) – Mathematics (100 Mark), Aptitude Test (200 Mark), Drawing (100 Mark) – Total – 400 Marks
  • Paper 3 (B.Planning) – Mathematics (100 Mark), Planning (100 Mark), Aptitude Test (200 Mark) – Total – 400 Marks

Joint Entrance Examination Main 2022 Exam Date, Application Form के बारे में जानकारी पाने के लिए ऑफिसियल वेबसाइट पर जाए।

JEE Main vs JEE Advance

श्रेणीजेईई मैन्सजेईई एडवांस
कुल प्रयास मिलते है3 Attempt2 Attempt
पेपर संख्या3 पेपर2 पेपर
एजुकेशन पात्रतामान्यता प्राप्त स्कूल से 12th पास12th पास (75% अंक) + 2,50,000 जेईई मेन रैंक धारक
परीक्षा आयोजित करवाता हैNational Testing Agency (NTA)Indian Institute of Technology, Delhi (IIT)

जेईई मेन कौन सी भाषाओँ में लिया जाता है

इंडिया में Joint Entrance Examination कुल 13 भाषाओं में आयोजित करवाया जाता है। इन भाषाओँ के नाम है हिंदी, पंजाबी, अंग्रेजी, गुजराती, उड़िया, मराठी, असमिया, मलयालम, कन्नड़, तेलुगु, तमिल, उर्दू और बंगाली। राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी NTA द्वारा विभिन्न भाषाओं में इस एग्जाम को कराने के पीछे उद्देश्य इंडिया के सभी राज्यों के लोगो को पूरा मौका देना है।

JEE Main और JEE Advance से जुड़े कॉमन सवाल

JEE Main Full Form क्या होती है?

JEE की Full Form है Joint Entrance Examination (Main). हिंदी में जेईई की फुल फॉर्म है संयुक्त प्रवेश परीक्षा।

क्या IIT में Admission के लिए JEE Main जरुरी होता है?

आईआईटी संस्थान से बी.टेक करने के लिए छात्रो को जेईई मेन की परीक्षा देनी जरुरी होती है। JEE Main के Top Rankers ही JEE Advance के लिए योग्य होते है। जेईई एडवांस क्लियर करने के बाद ही IIT में Admission हो पाता है।

क्या JEE Main में Negative Marking होती है?

जी हां,हो वर्तमान यानी JEE Main 2022 की बात की जाए तो उसमे Negative Marking हुई है। जिसका मतलब पेपर में गलत जवाब पर अंक कटते है।

दोस्तों हम उम्मीद करते है JEE Mains और Advance क्या है: Full Form, Exam, Subject? आर्टिकल से जेईई से जुडी सभी जरुरी जानकारी आपको मिल गई होगी। JEE से संबधित आपके कोई और सवाल आप कमेंट्स बॉक्स में लिखकर हमसे पूछ सकते है।

Share This Post:

Leave a Comment