एसडीएम क्या हैं कैसे बने: SDM Full Form, Salary, Exam in Hindi

दोस्तों कई बार ऐसा होता हैं की हमें किसी सरकारी काम को करवाने के लिए अपने एरिया के SDM Officer के पास जाने के सलाह दी जाती हैं और जब उनकी अनुमति मिलती हैं तभी वो काम हो पाता। ऐसे में किसी के मन में भी उस लेवल की नौकरी पाने की चाहत होना लाजिमी हैं। अगर आप भी उन्ही लोगो में से हैं जिन्हें SDM से जुडी सभी जानकारी जननी हैं तो आपने सही लेख खोला हैं। आज की पोस्ट में हम आपको बताएँगे एसडीएम क्या हैं? SDM कैसे बने और SDM Full Form, Salary, Exam & Meaning in Hindi.

जीवन में हम सब कामयाब होना चाहते हैं पर हर किसी सपना और रूचि अलग अलग होते हैं। कुछ लोग डॉक्टर, इंजिनियर या वकील बनना चाहते हैं और कुछ लोगो की चाहत होती हैं UPSC और SSC जैसी परीक्षा पास करके उच्च स्तर की सरकारी नौकरी करे।

भारत की जनसँख्या जितनी तेज़ी से बढ़ रही हैं सरकारी नौकरी पाने की प्रतिस्पर्धा भी बढती जा रही हैं। एक निचले स्तर की सरकारी जॉब पाना भी आज के समय कठिन होता हैं। एसडीएम एक उच्च स्तरीय पद होता हैं और इस नौकरी में तनख्वाह भी बहुत होती हैं। इसलिए एसडीएम बनने के लिए आपको जी-तौड़ मेहनत करनी होगी।

हर साल बहुत से लोग SDM Officer बनने के लिए कौशिश करते हैं और उनमे से अधिकतर फेल हो जाते हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं पर एक जो कारण आम होता हैं वो हैं एसडीएम से जुडी सही जानकरी ना होना। आज हम आपको बताएँगे SDM क्या हैं इसकी फुल फॉर्म क्या हैं और एसडीएम बनने के लिए क्या करे? पूरी जानकारी हिंदी में।

एसडीएम क्या हैं : SDM meaning in Hindi

SDM Full Form, Salary in Hindi

SDM Full Form

SDM एक उच्च रैंक का सरकारी अधिकारी होता हैं। एसडीएम राज्य प्रशासनिक सेवा में सबसे उपर का पद होता हैं। हर राज्य के जिले को कई उपखण्ड में बांटा जाता हैं। प्रत्येक उपखंड का नेतृत्व एक एसडीएम करता है। हर उपखंड में उसके आकार के आधार पर एक या एक से अधिक  तहसील हो सकती हैं। एसडीएम का अपने उपखंड के तहसीलदारों पर सीधा नियंत्रण होता है और जिले के जिला अधिकारी और उसके उपखंड के तहसीलदारों के बीच पत्राचार का एक चैनल होता है।

एसडीएम की फुल फॉर्म : SDM Full Form in Hindi

  • SDM : Sub Divisional Magistrate
  • एसडीएम : उप प्रभागीय न्यायाधीश

एसडीएम अपने एरिया के सभी भूमिगत कार्य करता हैं। इसके अलावा भी कई और क्षेत्र SDM Officer के अधिकार में आते हैं। वाहनों और विवाह का पंजीकरण, चुनाव का काम, राजस्व समारोह, हथियार लाइसेंस, राजस्व कामकाज और एससी / एसटी, ओबीसी और डोमिसाइल जैसे प्रमाणपत्र जारी करना कुछ ऐसे मुख्य काम हैं जो एसडीएम के अंडर होते हैं।

 

SDM की सैलरी और मिलने और सुविधाएं

एसडीएम एक हाई रैंक सरकारी पद होता हैं। एसडीएम को अच्छी खासी तनख्वाह के साथ में आदर भी बहुत मिलता हैं। SDM Officer की सैलरी 50 हजार से 1 लाख के बीच में होती हैं। वेतन के साथ एसडीएम को कई अन्य लाभ मिलते हैं जो नीचे दिए गए हैं।

  • बिना किसी कीमत के या फिर मामूली कीमत में सरकार की तरह से रहने का घर।
  • घर के साथ में सुरक्षा गार्ड और घर के कामकाज के लिए नौकर भी मिलते हैं।
  • राज्य में सरकारी काम के लिए यात्रा के दौरान ठहरने के लिए उच्च श्रेणी के आवास की व्यवस्था होती हैं।
  • Sub Divisional Magistrate को आधिकारिक वाहन के साथ ड्राईवर मिलता हैं।
  • एसडीएम के जीवनसाथी को पेंशन भी मिलती हैं।
  • मोबाइल कनेक्शन जिसका बिल भी सरकार द्वारा ही भरा जाता हैं।

 

एसडीएम कैसे बने : How to Become SDM in Hindi

एसडीएम का पद राज्य प्रशासनिक सेवा की कुछ टॉप हाई रैंक पदों में से एक हैं। समाज में एसडीएम सम्मान के साथ एक  प्रतिष्ठित जीवन का भी मज़ा लेता हैं। हर राज्य SDM के चयन के लिए प्रशासनिक सेवाओं में परीक्षा आयोजित करता है। SDM Post पाने के 2 तरीके होते हैं।

1. Union Public Service Commission (UPSC): SDM यानी Sub Divisional Magistrate बनने का पहला तरीका हैं UPSC की परीक्षा को क्लियर करना। जिसके लिए सबसे पहला आपकी ग्रेजुएशन की पढाई पूरी होनी जरुरी हैं। आप किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएट कर सकते हैं। UPSC Exam पास करने के बाद IAS Officer शुरुआत में SDM की पोस्ट मिलती हैं। कुछ सालो के बाद वो DM बन सकते हैं।

2. State PSC Exam : उप प्रभागीय न्यायाधीश बनने का दूसरा तरीका State PSC की परीक्षा से होकर जाता हैं। इस एग्जाम में बैठने के लिए भी आपको स्नातक की पढाई पूरी होनी जरुरी हैं। State PSC Exam देने के बाद अगर आप Top Rank में आते हो तो आप ट्रेनिंग के बाद सीधा एसडीएम लग सकते हो। कुछ सालो बाद प्रमोशन होने पर DM बन सकते हो।

अगर कोई PSC Exam Clear तो कर देता हैं पर Top Rank में उसका नाम शामिल नहीं होता तभ भी उसके पास SDM बनने का मौका होता हैं। राज्य पीएससी परीक्षा को क्लियर करने के बाद नायब तहसीलदार का पद मिल जाता हैं और 10-20 साल के बाद प्रमोशन होने पर एसडीएम बन सकता हैं।

Hindi Use का ये लेख एसडीएम कैसे बने: SDM Full Form and Meaning in Hindi? अगर आपको सही लगा हैं तो इसे लाइक और शेयर जरुर करे। एसडीएम से जुड़े सवाल और सुझाव आप कमेंट्स में पूछ सकते हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!