NCERT Full Form: एनसीईआरटी क्या है इसके कार्य, स्थापना और फुल फॉर्म

NCERT Full Form in Hindi: भारत में शिक्षा के क्षेत्र में NCERT एक जाना पहचाना नाम है। एनसीईआरटी के संबध में अक्सर लोगो के कुछ आम सवाल रहते है कि NCERT क्या है इसकी फुल फॉर्म क्या है इसकी स्थापना कब हुई और ये कार्य क्या करती है? इस आर्टिकल में हम इन सभी सवालो के जवाब आसान भाषा में आपको देंगे।

स्कूल में पढ़ रहे छात्रो के पाठयक्रम में NCERT Books के बारे में हम सबने सुना है। ऐसे में ये ख्याल आना लाजिमी है की आखिर ये एनसीईआरटी होता क्या है। NCERT का पूरा नाम राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद है जो एक भारत सरकार का एक स्वायत्त संगठन है। इसा संगठन का मुख्य कार्य इंडिया में शिक्षा में विकास के दिशा में कार्य करना है।

Class 1 से Class 12th के छात्रो के लिए अलग अलग सब्जेक्ट के लिए बुक्स भी ncert ही उपलब्ध कराता है। इन किताबो को आप इनकी ऑफिसियल वेबसाइट से फ्री में डाउनलोड भी कर सकते है। आज हम आपको Full Form of NCERT और इसे जुडी अन्य सभी जानकारी आपको आगे देंगे।

NCERT Full Form in Hindi: एन सी ई आर टी फुल फॉर्म

  • NCERT Full Form: National Council of Educational Research and Training
  • एन सी ई आर टी फुल फॉर्म हिंदी में: राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद

एनसीईआरटी भारत सरकार द्वारा बनाया गई एक संस्थान है जिसका काम भारत के स्कूलो में शिक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने और सुचारू रूप से काम करने में मदद और देख रेख करना है।

NCERT क्या है इसकी स्थापना कब और क्यों हुई

NCERT Full Form Meaning in Hindi
NCERT Full Form

भारतीय स्कूली शिक्षा के क्षेत्र में एनसीईआरटी एक महतवपूर्ण नाम है। ये एक एक स्वायत्त संगठन है जिसकी स्थापना इंडियन गवर्नमेंट ने 1961 में की थी। NCERT के निर्माण के पीछे प्रमुख उद्देश्य भारतीय स्कूल की शिक्षा में सुधार करना था।

NCERT के बनने से पहले 7 अलग अलग संस्थान थी जो स्कूल शिक्षा के लिए काम करती है। इन सभी संस्थानों को मिलकर एक संगठन का निर्माण किया गया जिसका नाम एनसीईआरटी रखा गया। केंद्र और स्टेट गवर्नमेंट को शिक्षा के लिए नई नीतिया और योजनाए बनाने में भी मुख्य सलाहकार के रूप में ये संस्थान काम करती है।

CBSE छात्रो के लिए भी मॉडल पाठ्यपुस्तक, शैक्षिक किट, सप्लीमेंट्री सामग्री और मल्टीमीडिया डिजिटल सामग्री आदि के प्रकाशन का काम भी NCERT करती है।

UPSC, NEET और IIT जैसी बड़ी प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए भी एनसीईआरटी बुक्स के अध्ययन की सलाह दी जाती है। इसका कारण इन किताबो का संक्षिप्त और सरल भाषा में लिखा जाना है।

सीबीएसई को छोड़कर अधिकतर भारत के राज्यों में ncert books को ही प्राथमिकता दी जाती है। अगर आप एक छात्र है तो आप इसके बारे में जरुर जानते होंगे।

एन. सी. ई. आर. टी से जुडी मुख्य जानकारी

संगठन का नामएन. सी. ई. आर. टी
Full Form of NCERTNational Council of Educational Research & Training
स्थापना की तिथि27 जुलाई, 1961
संस्थापकभारत सरकार
निदेशकडॉ हृषिकेश सेनापति
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://ncert.nic.in/
कांटेक्ट नंबर011 2696 2580
ईमेल आईडीdceta.ncert@nic.in
एड्रेसराष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी)
श्री अरबिंदो मार्ग,
नई दिल्ली-110016

एनसीईआरटी का इतिहास: NCERT History in Hindi

भारत सरकार के शिक्षा विभाग ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद की स्थापना 27 जुलाई. 1961 में की थी पर इस संगठन ने अधिकारिक तौर पर स्वायत्त निकाय के रूप में काम करना 1 सितम्बर, 1961 में किया था। इस संगठन का निर्माण उस समय के 7 केंद्रीय शिक्षा संस्थानों को मिलाकर किया गया था।

सन 1962 में राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिभा खोज योजना (NTSS) नाम की एक स्कीम शुरू की गयी जो ncert की सलाह से ही लॉन्च हुई थी। NTSS का उद्देश्य देश के प्रतिभाशाली छात्रो की पहचान करके उनको आगे बढ़ने में मदद करना था। उन छात्रों को स्कालरशिप भी दी जाती थी जिससे उनकी आगे की स्टडी में काफी मदद मिलती थी।

NCERT की स्थापना जिन 7 शिक्षा संस्थानों को मिलाकर हुई थी उनके नाम आप नीचे देख सकते है।

  1. केंद्रीय शैक्षिक और व्यावसायिक मार्गदर्शन ब्यूरो
  2. माध्यमिक शिक्षा के लिए विस्तार कार्यक्रम निदेशालय
  3. केंद्रीय पाठ्यपुस्तक अनुसंधान ब्यूरो
  4. राष्ट्रीय मौलिक शिक्षा केंद्र
  5. केंद्रीय शिक्षा संस्थान
  6. राष्ट्रीय बुनियादी शिक्षा संस्थान
  7. राष्ट्रीय श्रव्य-दृश्य शिक्षा संस्थान

NCERT Work & Functions in Hindi

एनसीईआरटी भारत में स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में कई तरह के कार्य करता है। इसका मुख्य उद्देश्य इंडिया के विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाना है। इस संस्थान के मुख्य उद्देश्य और कार्य निन्मलिखित है।

  • NCERT कक्षा 1 से कक्षा 12th तक के छात्रो के लिए पाठ्यपुस्तकों का प्रकाशन करती है। भारत के अधिकतर स्कूलों में छात्रो को पढ़ाने NCERT Books का ही इस्तेमाल किया जाता है।
  • यही संस्थान शिक्षको को ट्रेनिंग देने का भी काम करती है। इस ट्रेनिंग में उन्हें नई शैक्षिक तकनीकों से अवगत कराया जाता है और उनके शिक्षण विकास के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
  • School Education से संबधित Research को बढ़ावा देने का कार्य भी यही संगठन करता है।
  • शिक्षा में सुधार और विकास के लिए सरकार जो नीतिया और स्कीम बनाती है उन्हें बनाने में एनसीईआरटी की सलाह का मुख्य योगदान होता है।
  • देश में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई तरह के अभियान चलाती है।

NCERT से संबधित आम सवाल FAQ

क्या JEE, NEET और UPSC जैसे Entrance Exam Clear करने में एनसीईआरटी की किताबें मदद करती है?

जी हां, ncert books आपको इन सब प्रवेश परीक्षाओ को पास करने में मदद करती है। ऐसी अधिकतर प्रवेश परिक्षाएं एनसीईआरटी सिलेबस पर आधारित होती है।

CBSE और NCERT में क्या अंतर है? क्या दोनों एक ही है?

CBSE की Full Form है Central Board of Secondary Education. CBSE केंद्र सरकार द्वारा बनाया शिक्षा बोर्ड है जो कक्षा 10 और 12 के छात्रो के लिए एग्जाम आयोजित करवाता है। वही NCERT सरकार द्वारा बनाई एक ऐसा संगठन है जो देश के अधिकतर विद्यालयों के पाठ्यक्रम तैयार करने के साथ में शिक्षा में सुधार की दिशा में कई काम करता है।

NCERT की Full Form क्या है?

NCERT Full Form है National Council of Educational Research & Training. एनसीईआरटी का हिंदी में पूरा नाम है राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद

Share This Post:
error: Content is protected !!